( 14/11/2021)  नकली ड्राइविंग लाइसेंस बनवाकर दिल्ली पुलिस में भर्ती हुए एक दर्जन पुलिसकर्मियों को नौकरी से बर्खास्त किया। मथुरा अथॉरिटी से फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस बनवाकर भर्ती हुए थे। ( INSMEDIA.IN )

 

नकली ड्राइविंग लाइसेंस बनवाकर दिल्ली पुलिस में भर्ती हुए एक दर्जन पुलिसकर्मियों को नौकरी से बर्खास्त किया। मथुरा अथॉरिटी से फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस बनवाकर भर्ती हुए थे।

(प्रदीप महाजन/आईएनएस मीडिया) मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली पुलिस में फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस बनवाकर भर्ती हुए 12 पुलिसकर्मियों को विभागीय जांच के बाद दिल्ली पुलिस की नौकरी से बर्खास्त कर दिया है और उनपर केस दर्ज करके आगे की जांच की जा रही है। सभी बर्खास्त कर्मी  दिल्ली पुलिस की पीसीआर गाड़ियों में ड्राइवर थे और नौकरी पाने के लिए गलत नाम और पते के साथ ड्राइविंग लाइसेंस बनवाए हुए थे। इन सभी की नियुक्तियां 2007 में हुई थीं और 14 साल से पुलिस विभाग से वेतन और भत्ते ले रहे थे। इस भर्ती घोटाले का विभाग को पता तब चला 2012 में सुल्तान सिंह नाम के शख्स ने कांस्टेबल( ड्राइवर) के पद के लिए आवेदन किया और ड्राइविंग लाइसेंस मथुरा अथॉरिटी से बना हुआ दस्तावेजों में लगाया जब उसके ड्राइविंग लाइसेंस की वैरिफिकेशन की तो पता चला कि ये लाइसेंस तो मथुरा अथॉरिटी ने जारी ही नहीं किया गया है जिसके बाद दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के कान खड़े हुए और 2007 के भर्ती हुए 81 उम्मीदवारों के ड्राइविंग लाइसेंस की जांच क्राइम ब्रांच को दी गई। जांच में कागजात मथुरा आरटीओ के ऑफिस भेजे गए। वहा से जवाब आया कि बर्खास्त सिपाहियों के लाइसेंस का कोई रिकॉर्ड ही उनके पास नहीं है। जिसपर पुलिस ने 12 कॉन्स्टेबल (जो ड्राइवर के पद पर थे) के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया और  नकली ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के आरोप में उन्हें बर्खास्त कर दिया गया है। 

Back