( 13/10/2021)  तिहाड़ जेल में नियमो के खिलाफ अपनी सल्तनत चलाने में मदद करने वाले तिहाड़ जेल के 32 कर्मचारियों पर कार्रवाई, 30 सस्पेंड व 2 को टर्मिनेट किया । ( INSMEDIA.IN )

 

तिहाड़ जेल में नियमो के खिलाफ अपनी सल्तनत चलाने में मदद करने वाले तिहाड़ जेल के 32 कर्मचारियों पर कार्रवाई, 30 सस्पेंड व 2 को टर्मिनेट किया ।

(प्रदीप महाजन/आईएनएस मीडिया) तिहाड़ जेल में अगर आपका रसूख है तो आप जेल में रहकर  सल्तनत चला सकते हो ऐसे ही एक मामले में तिहाड़ जेल में  बंद संजय चंद्रा जेल से ही अपना ऑफिस चला रहे थे। जब इसकी शिकायत देश की शीर्षस्थ अदालत सुप्रीम कोर्ट पहुंची तो सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर से खुद इस मामले की जांच करने को कहा जांच के बाद दिल्ली के पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने 28 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट में अपनी रिपोर्ट सौंपी। 6 अक्टूबर को जांच रिपोर्ट के आधार पर सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में केस दर्ज करने के लिए कहा था। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने 12 अक्टूबर को तिहाड़ जेल के अधिकारियों के खिलाफ इस मामले में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत केस दर्ज किया और 32 कर्मचारियों पर कार्रवाई करते हुए 30 अधिकारियों को सस्पेंड व 2 को टर्मिनेट किया गया है। गौरतलब है कि यूनिटेक के पूर्व प्रमोटरों चंद्रा बंधुओ पर आरोपी तिहाड़ के अधिकारियों द्वारा जेल नियमो के खिलाफ गलत तरीके से सहायता पहुंचाने का आरोप लगाया गया था। तिहाड़ जेल के डीजी संदीप गोयल ने बताया कि आरोपी 30 अधिकारी व कर्मचारियों में एक सुपरीटेंडेंट, दो डिप्टी सुपरीटेंडेंट, सात असिस्टेंट सुपरीटेंडेंट, 10 हेड वार्डर और 11 वार्डर हैं।

Back