सरकार ने मुस्लिम कॉन्फ्रेन्स जम्मू और कश्मीर (सुमजी गुट) और मुस्लिम कॉन्फ्रेन्स जम्मू और कश्मीर (भट गुट) को विधिविरुद्ध संगठन घोषित किया      भारत और अमेरिका के वरिष्ठ अधिकारियों के बीच नई दिल्ली में होमलैंड सिक्युरिटी डायलॉग      दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल और हरियाणा पुलिस ने ज्वाइंट ऑपरेशन में मेवात के एक कुख्यात गैंगस्टर शाकिर को मुठभेड़ में लंगड़ा करके गिरफ्तार किया है।आरोपी दिल्ली पुलिस के हवलदार की हत्या के मामले में वांछित था।       रोटी बैंक संस्था,कृष्णा फाउंडेशन श्री मेहंदीपुर सेवा मंडल ने प्रशासन के साथ मिलकर अयोध्या धाम में शबरी भंडारे की विधिवत शुरुआत की।       भारतीय सेना ने 46-मीटर के मॉड्यूलर पुल के साथ अपनी ब्रिजिंग क्षमता को मजबूत बनाया।       केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने वामपंथी उग्रवाद पर नकेल कसने के लिए एक आक्रामक रणनीति अपनाई।       दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के एसीपी राहुल कुमार और इंस्पेक्टर मंदीप, इंस्पेक्टर जयबीर की टीम ने नरेला में हुई 81 लाख रुपये की लूट में शामिल बदमाश लक्ष्य उर्फ जंगली को पिस्टल और लूट की रकम के साथ दबोचा।      डीसीपी अमित गोयल क्राइम ब्रांच की टीम ने गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई व हाशिम बाबा गैंग के दो शूटरों को मुठभेड़ में लंगड़ा करके दबोचा।       प्रधानमंत्री ने गुजरात में महेसाणा के तारभ में 13,500 करोड़ रुपये से अधिक की कई विकास परियोजनाएं राष्ट्र को समर्पित कीं और आधारशिला रखी।      भारत के चीफ़ जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने सुप्रीम कोर्ट के परिसर में आयुष समग्र कल्याण केंद्र का उद्घाटन किया।       शाबाश दिल्ली पुलिस .... एसीपी के पी मलिक और पूर्वी दिल्ली एंटी नारकोटिक दस्ते के इंस्पेक्टर अरुण कुमार की टीम ने डेढ़ दर्जन केसो में शामिल ड्रग तस्कर आरोपी मिथुन को स्मैक के साथ दबोचा।       तेजस एमके1ए के लिए डिजिटल फ्लाइट कंट्रोल कंप्यूटर का सफल उड़ान परीक्षण।       प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थन-एम्‍स जम्मू का उद्घाटन किया,पिछले 10 वर्षों में जम्मू-कश्मीर में मेडिकल कॉलेजों की संख्या 4 से बढ़कर 12 हुई; इसी अवधि में एमबीबीएस सीटें दोगुनी से भी अधिक 500 से बढ़कर 1300 हो गई।       डीएफएस सचिव ने नई दिल्ली में ऋण वसूली अपीलीय न्यायाधिकरणों (डीआरएटी) के प्रमुखों और ऋण वसूली न्यायाधिकरणों (डीआरटी) के पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन की अध्यक्षता की      पेयजल और स्वच्छता विभाग की सचिव सुश्री विनी महाजन ने उत्तर प्रदेश के लखनऊ में जल जीवन मिशन और स्वच्छ भारत मिशन-ग्रामीण पर राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन किया      केंद्रीय मंत्री श्री अर्जुन राम मेघवाल कल 16वीं राष्ट्रीय युवा संसद प्रतियोगिता, 2019-20 के विजेताओं को पुरस्कार वितरित करेंगे।       उपराष्ट्रपति ने कहा है कि भ्रष्टाचार और संरक्षण युवा प्रतिभा के सबसे बुरे हत्यारे हैं, जो योग्यता और स्थिरता के विपरीत हैं।       किसान आंदोलन के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के वकील दो धड़ो में बंटे, सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के 161 वकीलों ने अध्यक्ष अदीश अग्रवाल को पद से हटाने के लिए खोला मोर्चा।       किसान मुद्दे को चलते दिल्ली पुलिस ने 13 फरवरी को किन रास्तों से गुजरना है, किधर से नही,एडवाइजरी जारी की।       केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने एम्स, नई दिल्ली में बिना किसी परेशानी के भुगतान के लिए एम्स-एसबीआई स्मार्ट पेमेंट कार्ड की शुरूआत की।      

( 14/03/2022)  भाजपा को आधे से अधिक हिंदू और सपा को दो तिहाई मुस्लिम मतदाताओं का मिला वोट ( INSMEDIA.IN )

 
 

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के दौरान 80 बनाम 20 प्रतिशत पर छिड़ी बहस से इतर चुनाव के बाद के एक सर्वेक्षण में इस बात पर प्रकाश डाला गया है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को आधे से अधिक हिंदू मतदाताओं का समर्थन मिला, जबकि समाजवादी पार्टी (सपा) को दो तिहाई मुस्लिम मतदाताओं का समर्थन मिला। उत्तर प्रदेश में सीएसडीएस-लोकनीति के सर्वेक्षण में एक तथ्य यह भी सामने आया कि भाजपा ने 2017 की तुलना में मुस्लिम मतदाताओं के बीच अपने समर्थन में मामूली वृद्धि की जो बसपा और कांग्रेस को मिले मत प्रतिशत से अधिक रही।

सर्वेक्षण इस तथ्य की ओर भी इशारा करता है कि बहुसंख्यक समुदाय के बीच अखिलेश यादव का समर्थन पिछले विधानसभा चुनाव में 18 प्रतिशत से बढ़कर 26 प्रतिशत हो गया। गौरतलब है कि बहुसंख्यक समुदाय के वोटों में सेंध लगाने के उद्देश्य से अखिलेश ने नरम हिंदुत्व के अनुसरण में अपने चुनावी अभियान के दौरान कई मंदिरों का दौरा किया था। सेंटर फॉर द स्टडी ऑफ डेवलपिंग सोसाइटीज के एक कार्यक्रम में लोकनीति के प्रोफेसर और सह-निदेशक संजय कुमार ने पीटीआई-भाषा को बताया कि सर्वेक्षण के निष्कर्ष एक व्यापक नमूने पर आधारित थे, जो किसी भी सर्वेक्षण के सटीक होने के लिए एक महत्वपूर्ण कारक है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चुनावी जनसभाओं में भाजपा के पक्ष में 80 फीसद आबादी के ध्रुवीकरण के हिसाब से अपने संबोधन को केंद्रित रखा और उन्‍होंने 80 बनाम 20 प्रतिशत का नारा भी दिया। उनके बयान को राजनीतिक हलकों में उप्र में हिंदुओं और मुसलमानों की आबादी के आधार पर देखा गया था। द हिंदू अखबार में विशेष रूप से प्रकाशित सीएसडीएस-लोकनीति सर्वेक्षण में कहा गया है कि अगर 80 प्रतिशत हिंदू समुदाय के मतदाताओं के वोट शेयर को ध्यान में रखा जाए, तो 2017 में 47 प्रतिशत की तुलना में भाजपा को 54 प्रतिशत मतदाताओं ने समर्थन दिया। सपा के लिए यह बढ़ोतरी पिछली बार के 19 प्रतिशत के मुकाबले 26 फीसदी रही। वहीं, बसपा के लिए यह समर्थन पांच साल पहले के 23 से गिरकर 14 प्रतिशत और कांग्रेस के लिए चार से घटकर दो प्रतिशत रह गया।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन को 403 सदस्यीय विधानसभा में 273 सीटों के साथ बहुमत मिला, जबकि अखिलेश के नेतृत्व वाला समाजवादी गठबंधन 125 सीटें जीत सका। कांग्रेस को मिली सीटों का आंकड़ा पिछली बार के सात से गिरकर दो हो गया, जबकि मायावती के नेतृत्व वाली बसपा ने तीन दशक पहले अपनी स्थापना के बाद से अब तक का सबसे खराब प्रदर्शन देखा, जिसमें उसके केवल एक उम्मीदवार और विधानसभा में दल के नेता रहे उमाशंकर सिंह ने 2022 में जीत हासिल की।
चुनाव के बाद के सर्वेक्षण में इस बात पर प्रकाश डाला गया कि मुस्लिम मतदाताओं में 79 प्रतिशत की पसंद सपा थी जो 2017 में 46 प्रतिशत थी। हालांकि, भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन के 273 विजेताओं में कोई मुस्लिम नहीं है, लेकिन भाजपा के समर्थन में आठ फीसदी मुस्लिम मतदाताओं के साथ 2017 में तीन फीसदी की बढ़ोतरी देखी गई। भाजपा ने एक भी मुस्लिम उम्मीदवार को इस चुनाव में मौका नहीं दिया था। हालांकि, रामपुर की स्वार सीट पर आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम के खिलाफ अपना दल (सोनेलाल) से सत्तारूढ़ गठबंधन के एक मुस्लिम उम्मीदवार हैदर अली थे। अली इस चुनाव में आजम के बेटे से हार गए।

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे अभियान के दौरान शासन के सबका साथ सबका विकास मंत्र को अपने संबोधन के केंद्र में रखने से बसपा के लिए, मुस्लिम मतदाताओं का समर्थन पिछली बार के 19 प्रतिशत की तुलना में इस बार 6 प्रतिशत तक कम है और कांग्रेस के लिए 2017 में 19 प्रतिशत के सापेक्ष इस बार तीन प्रतिशत है। बसपा ने सबसे अधिक 87 मुस्लिम उम्मीदवार उतारे थे, उसके बाद कांग्रेस ने 75 और सपा ने 64 उम्मीदवार उतारे थे। मौजूदा चुनाव में उप्र की 403 सदस्यीय विधानसभा में कुल 34 मुस्लिम विधायक जीते हैं जो पिछली बार की संख्या से नौ ज्यादा है। इनमें से 31 अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी के हैं। बाकी तीन में दो सहयोगी रालोद और एक विधायक ओम प्रकाश राजभर की सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के हैं। सुभासपा से बाहुबली मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी ने मऊ की सीट जीतकर बांदा जेल में बंद अपने पिता की विरासत को बचा लिया है। वर्ष 2017 के चुनाव में सपा के 18 मुस्लिम विधायक, बसपा के पांच और कांग्रेस के दो विधायक थे। इसमें से सपा के अब्दुल्ला आजम नामांकन दाखिल करने के दौरान कम उम्र के होने के कारण अयोग्य घोषित हो गए थे।

Back