दिल्ली में कोरोना मरीजो की नही थमी रफ़्तार एक दिन में 1320 नये मामले वहीं देश भर में कोरोना मरीजो का आंकड़ा 236657 पहुचा।      दिल्ली में कोरोना के 1330 नये मामले एक दिन में आए,भारत में 2,26,770 कोरोना मरीजो का आंकड़ा पहुचा।      पालिका परिषद ने कोरोना पीड़ित कर्मचारियों की सुविधा के लिए "स्टाफ वेलफेयर सेल" और कोर ग्रुप" का गठन किया ।      गृह मंत्रालय द्वारा बुलाई गई जेसीए बैठक में अगर सीपी श्रीवास्तव की चली तो कई टॉप AGMUT कैडर के आईपीएस अधिकारी दिल्ली पुलिस से ट्रांसफर होंगे और पसन्द के अधिकारियों को दिल्ली में लाया जाएगा।      राजधानी दिल्ली में एक दिन में 1359 कोरोना के केस आये दिल्ली में कोरोना मरीजो का आंकड़ा 25 हजार के पार,देश मे भी नही थम रही रफ़्तार आंकड़ा 2,16,919 पर पहुचा।      एक दिन में 1513 मरीज आने से हड़कंप, दिल्ली में अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा,भारत मे कुल 207,615 कोरोना मरीज हुए।      पालिका परिषद द्वारा कमर्शियल बिल्डिंग्स, अन्य कार्यालयो, भवनों और मुख्यालय - पालिका केंद्र के लिए युद्ध स्तर पर सैनिटाइजेशन अभियान शुरू किया।       दिल्ली में कोरोना के एक दिन में रिकॉर्ड 1298 मरीज,भारत मे 2 लाख के करीब कोरोना मरीजो का आंकड़ा पहुचा।      बहुचर्चित जेसिका लाल मर्डर के आरोपी मनु शर्मा को जेल से रिहा किया गया। सीपी डडवाल के लड़के से झगड़ा करने पर एक बार पैरोल भी कैंसिल हुई थी।      सीबीआई ने छापा मारकर रशियन चाइल्ड यौन शोषण वाली वेबसाइटों को चलाने वाले पकड़े।      दिल्ली में 24 घण्टो में 990 कोरोना केस आये, 21 हजार के करीब आंकड़ा हुआ। देश भर मे 1,90,535 मरीज हुए।      देश की राजधानी दिल्ली में एक दिन में कोरोना मरीजो की बेतहाशा वृद्धि ,करीब 1300 मरीजो के साथ आंकड़ा 20 हजार के करीब हुआ। देश मे 182143 मरीज हुए।      दिल्ली पुलिस ने खोए दो दिनों में अपने दो जांबाज अधिकारी, कल ASI शेष मणि के बाद आज ASI विक्रम यादव की मौत।      केजरीवाल सरकार ने केंद्र सरकार से 5000 करोड़ रुपये मांगे कहा कर्मचारियों को सैलरी देने का संकट है।      दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच में तैनात असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर की कोरोना से मौत।      महंत सुरेश शर्मा सहित सभी सन्त महात्माओं ने धार्मिक स्थलों को खोलने के फैसले का स्वागत किया।      दिल्ली में नही रुकी रफ्तार आज 1163 केस सामने आए,भारत मे पौने दो लाख के करीब मरीज हुए।      निकाह के लिये पूर्व निगम पार्षदा इशरत जहां को मिली अंतरिम जमानत।      नही थमी दिल्ली में रफ्तार, एक दिन में 1106 कोरोना केस आये,भारत मे 1,65,799 कोरोना मरीज हुए। संक्रमित देशों की सूची में भारत नौवें स्थान पर ।      दिल्ली में कोरोना के 1024 नए केस आने से हड़कंप, देश भर में कोरोना के 1,58,333 मरीज हुए।     

( 21/05/2020)  (Pradeep Mahajan) दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने कोविड-19 के इस संकट की घड़ी में लोगों की कठिनाईयों को कम करने तथा राजधानी में व्यवसाय को प्रोत्साहित करने हेतु कदम उठाने के लिए दिल्ली विकास प्राधिकरण, दिल्ली नगर निगमों एवं दिल्ली सरकार को पत्र लिखा।

 

दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने कोविड-19 के इस संकट की घड़ी में लोगों की कठिनाईयों को कम करने तथा राजधानी में व्यवसाय को प्रोत्साहित करने हेतु कदम उठाने के लिए दिल्ली विकास प्राधिकरण, दिल्ली नगर निगमों एवं दिल्ली सरकार को पत्र लिखा।

(आईएनएस मीडिया) उपराज्यपाल ने सरकारी कार्यालयों को निर्देश दिए कि नई तकनीक का उपयोग कर अधिकतम सार्वजनिक सेवाओं को आन-लाईन किया जाए ताकि लोगों को सरकारी कार्यालयों में आने़ की आवश्यकता कम से कम हो।
 उपराज्यपाल ने दिल्ली विकास प्राधिकरण को पीएम-उदय, इन-सीटू स्लम पुनर्विकास, लैंड पुलिंग पालिसी एवं टी.ओ.डी. आदि नीतियों का क्रियान्वयन तेजी से करने को कहा।
 उपराज्यपाल ने दिल्ली विकास प्राधिकरण को निर्देश दिया कि आर्थिक गतिविधियों में तेजी लाने के लिए सेक्टोरल रिवाइवल योजना पर ध्यान केंद्रित करें।उपराज्यपाल महोदय ने दिल्ली सरकार को इस कठिन समय में दिल्ली के लोगों एवं व्यवसाय बढ़ाने के लिए व्यापक विशलेषण एवं सुझाव हेतु एक समिति गठित करने को कहा।
दिल्ली के उपराज्यपाल श्री अनिल बैजल ने आर्थिक गतिविधियों को प्रोत्साहित करने एवं कोविड-19 से प्रभावित लोगों की मदद करने के लिए भारत सरकार द्वारा घोषित राहत उपायों पर प्रकाश डालते हुए दिल्ली विकास प्राधिकरण, दिल्ली नगर निगमों एवं दिल्ली सरकार को पत्र के माध्यम से संबोधित किया है। उपराज्यपाल महोदय ने सलाह दी है कि लोगों की मद्द करने एवं राहत प्रदान करने के लिए विभिन्न लाइसेंसों का स्वतः नवीनीकरण, भुगतान में स्थगन तथा आन-लाइन प्रक्रियों को सरल बनाया जाए। इसके साथ ही नई तकनीक का उपयोग कर अधिकतम सार्वजनिक सेवाओं को आन-लाईन किया जाए ताकि लोगों को सरकारी कार्यालयों में आने़ की आवश्यकता कम-से-कम हो।
 विकास प्राधिकरण होने के कारण डीडीए की दिल्ली के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका है। उपराज्यपाल महोदय ने डीडीए को नई नीतियों और प्रोत्साहनों के माध्यम से दिल्ली के निवासियों, उनके व्यवसाय और शहर के बुनियादी ढांचे में स्थायी संरचनात्मक सुधार लाने की सलाह दी है। उन्होंने डीडीए को निवेश को आकर्षित करने और सेक्टोरल रिवाइवल पर ध्यान केंद्रित कर राजधानी में व्यापार को प्रोत्साहित करने के लिए योजना बनाने को कहा। गौरतलब है कि आज समाज के अधिकांश वर्गों को नकदी की चुनौती का सामना करना पड़ रहा है, जिससे लोगों को किस्त, अलाटमेंट मनी, ईएमडी, लीज रेंट, लाइसेंस शुल्क आदि का भुगतान करना मुश्किल हो रहा है। इस बाबत उपराज्यपाल महोदय ने डीडीए को ऐसे भुगतानों पर कुछ समय के लिए स्थगन (मोराटोरियम) की व्यवस्था करने की सलाह दी है, जिससे संकट की इस घड़ी में आवंटियों की ईएमडी/अलाटमेंट मनी इस संकट के समय में ना तो जब्त किया जा सके और ना ही आवंटन रद्द हो सके। उन्होंने डीडीए के उपाध्यक्ष को यह भी सलाह दी है कि कन्वेंस डीड, भूमि  पट्टा, एनओसी, ले-आउट/कंप्लीसन प्लान आदि लंबित सभी प्रक्रियाओं को शीघ्र पूरा किया जाए। जनता में विश्वास जगाने के लिए, डीडीए की चल रही सभी और लंबित परियोजनाओं को तीव्र गति से पूरा किया जाए तथा तमाम सार्वजनिक सेवाओं को आन-लाइन उपलब्ध कराया जाए।
 द्वारका, नरेला और रोहिणी सब-सिटी परियोजना में तेजी लाया जाए तथा वाणिज्यिक, आईटी, आईटीईएस, शैक्षिक क्षेत्रों में निवेश को आकर्षित करने पर ध्यान केंद्रित किया जाए। उपराज्यपाल ने पीएम-उदय, इन-सीटू स्लम पुनर्विकास, लैंड पुलिंग पालिसी एवं टी.ओ.डी. आदि नीतियों का कार्यान्वयन को प्रोत्साहित करने को कहा।  उपराज्यपाल महोदय ने माननीय मुख्यमंत्री को इस कठिन समय में दिल्ली के लोगों की सहायता एवं व्यवसाय बढ़ाने के लिए व्यापक विशलेषण एवं सुझाव तथा श्रमिकों के हितों की रक्षा पर विशेष ध्यान देने के लिए एक समिति गठित करने को कहा।
 उपराज्यपाल महोदय ने गृह विभाग को विभिन्न श्रेणियों के होटलों, रेस्टोरेंट, गेस्ट-हाउस, स्वीमिंग पुल आदि के लाइसेंस जिनकी अवधि 01.03.2020 के बाद समाप्त हो चुकी है, के वित्तीय सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए स्वतः नवीनीकरण की संभावनाओं को तलाशने के निर्देश दिए। ऐसे सभी प्रतिष्ठानों को खोलने के लिए भारत सरकार द्वारा जारी सख्त दिशा-निर्देशों का पालन किया जाए।
 उन्होंने सभी नगर निकायों को सम्पत्ति कर, मिश्रित भूमि के व्यवसायिक उपयोग के लिए कन्वर्जन चार्ज, पार्किंग, म्यूटेशन आदि लंबित प्रक्रियाओं को तेजी से निपटाने की सलाह दी है। उपराज्यपाल महोदय ने कहा कि सभी नगर निकाय स्वच्छता व साफ-सफाई, नालों की सफाई, जलजनित बीमारियों की रोकथाम के लिए आवश्यक कदम उठाए तथा भारत सरकार द्वारा जारी स्वास्थ्य दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाए। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि सभी सरकारी विभाग भारत सरकार के स्वास्थ्य दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन करें ताकि कोविड-19 महामारी के विरूद्ध लड़ाई में हमें शीघ्र सफलता प्राप्त हो सके।

Back