दिल्ली में कोरोना मरीजो की नही थमी रफ़्तार एक दिन में 1320 नये मामले वहीं देश भर में कोरोना मरीजो का आंकड़ा 236657 पहुचा।      दिल्ली में कोरोना के 1330 नये मामले एक दिन में आए,भारत में 2,26,770 कोरोना मरीजो का आंकड़ा पहुचा।      पालिका परिषद ने कोरोना पीड़ित कर्मचारियों की सुविधा के लिए "स्टाफ वेलफेयर सेल" और कोर ग्रुप" का गठन किया ।      गृह मंत्रालय द्वारा बुलाई गई जेसीए बैठक में अगर सीपी श्रीवास्तव की चली तो कई टॉप AGMUT कैडर के आईपीएस अधिकारी दिल्ली पुलिस से ट्रांसफर होंगे और पसन्द के अधिकारियों को दिल्ली में लाया जाएगा।      राजधानी दिल्ली में एक दिन में 1359 कोरोना के केस आये दिल्ली में कोरोना मरीजो का आंकड़ा 25 हजार के पार,देश मे भी नही थम रही रफ़्तार आंकड़ा 2,16,919 पर पहुचा।      एक दिन में 1513 मरीज आने से हड़कंप, दिल्ली में अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा,भारत मे कुल 207,615 कोरोना मरीज हुए।      पालिका परिषद द्वारा कमर्शियल बिल्डिंग्स, अन्य कार्यालयो, भवनों और मुख्यालय - पालिका केंद्र के लिए युद्ध स्तर पर सैनिटाइजेशन अभियान शुरू किया।       दिल्ली में कोरोना के एक दिन में रिकॉर्ड 1298 मरीज,भारत मे 2 लाख के करीब कोरोना मरीजो का आंकड़ा पहुचा।      बहुचर्चित जेसिका लाल मर्डर के आरोपी मनु शर्मा को जेल से रिहा किया गया। सीपी डडवाल के लड़के से झगड़ा करने पर एक बार पैरोल भी कैंसिल हुई थी।      सीबीआई ने छापा मारकर रशियन चाइल्ड यौन शोषण वाली वेबसाइटों को चलाने वाले पकड़े।      दिल्ली में 24 घण्टो में 990 कोरोना केस आये, 21 हजार के करीब आंकड़ा हुआ। देश भर मे 1,90,535 मरीज हुए।      देश की राजधानी दिल्ली में एक दिन में कोरोना मरीजो की बेतहाशा वृद्धि ,करीब 1300 मरीजो के साथ आंकड़ा 20 हजार के करीब हुआ। देश मे 182143 मरीज हुए।      दिल्ली पुलिस ने खोए दो दिनों में अपने दो जांबाज अधिकारी, कल ASI शेष मणि के बाद आज ASI विक्रम यादव की मौत।      केजरीवाल सरकार ने केंद्र सरकार से 5000 करोड़ रुपये मांगे कहा कर्मचारियों को सैलरी देने का संकट है।      दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच में तैनात असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर की कोरोना से मौत।      महंत सुरेश शर्मा सहित सभी सन्त महात्माओं ने धार्मिक स्थलों को खोलने के फैसले का स्वागत किया।      दिल्ली में नही रुकी रफ्तार आज 1163 केस सामने आए,भारत मे पौने दो लाख के करीब मरीज हुए।      निकाह के लिये पूर्व निगम पार्षदा इशरत जहां को मिली अंतरिम जमानत।      नही थमी दिल्ली में रफ्तार, एक दिन में 1106 कोरोना केस आये,भारत मे 1,65,799 कोरोना मरीज हुए। संक्रमित देशों की सूची में भारत नौवें स्थान पर ।      दिल्ली में कोरोना के 1024 नए केस आने से हड़कंप, देश भर में कोरोना के 1,58,333 मरीज हुए।     

( 16/05/2020)  (Pradeep Mahajan) यूपी के औरैया जिले में हादसे में 24 प्रवासी मजदूरों की दर्दनाक मौत, 7 दिन में 70 से अधिक मजदूर मौत का शिकार हुए ।

 

यूपी के औरैया जिले में हादसे में 24 प्रवासी मजदूरों की दर्दनाक मौत, 7 दिन में 70 से अधिक मजदूर मौत का शिकार हुए ।

(आईएनएस मीडिया) इस देश मे अगर सस्ती है तो वो मजदूर,किसान या गरीब की जान है, परिवार वालो को मौत के बाद मिलती है पोस्टमार्टम हुई बॉडी और नेताओ को मिलती हैं राजनीतिक बयानबाज़ी और मौत के आंकड़े जो बाद में फाइलों में दफन हो जाते हैं गौरतलब है कि भारत में लॉकडाउन के चलते दूसरे राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूर लगातार हादसों का शिकार हो रहे हैं।कही ट्रेनों से कट रहे हैं तो कहीं सड़को पर शिकार बन रहे है देश भर में पिछले एक हफ्ते 70 से अधिक मजदूर हादसों में जान गंवा चुके हैं।
ताजा मामला यूपी के औरैया जिले में हुआ जहा दिल्ली-कोलकाता हाईवे पर एक ढाबे के पास चाय पीने को रुकी मजदूरों से भरी एक डीसीएम गाड़ी में एक ट्रॉले ने टक्कर मार दी। इस हादसे में करीब 24 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 22 लोगों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वही दूसरा हादसा मध्यप्रदेश के सागर जिले में बंडा में हुआ जिसमे ट्रक के पलटने से 5 मजदूरों की मौत हो गई है।जानकारी के अनुसार ये मजदूर महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश जा रहे थे।  
इसी तरह  मध्यप्रदेश के गुना में एक ट्रक और बस की टक्कर होने से आठ मजदूरों की मौत हो गई सभी मृतक मजदूर महाराष्ट्र से अपने गृह राज्य बिहार और उत्तर प्रदेश जा रहे थे। 
यूपी के मुजफ्फरनगर जिले में  रोहाना टोल प्लाजा के पास एक रोडवेज बस ने पैदल जा रहे मजदूरों को कुचल दिया। इस हादसे में छह मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। मृतक और घायल मजदूर बिहार प्रांत के जनपद गोपालगंज के थे।
एक अन्य हादसे में महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में आठ मई को एक मालगाड़ी की चपेट में आने के बाद 16 प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई। ये मजदूर रेल की पटरियों के किनारे चल रहे थे और थकान के कारण पटरियों पर ही सो गए थे। ट्रेन ने सुबह सवा पांच बजे उन्हें कुचल दिया। प्रवासी मजदूरों की मौत के मामले तेलांगना,मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले में हुए जहा मजदूरों के हिस्से घर की जगह मौत हाथ आई और सरकारी तंत्र को  आंकड़ों का कागज दे गई। read on www.insmedia.org

Back