दिल्ली में कोरोना मरीजो की नही थमी रफ़्तार एक दिन में 1320 नये मामले वहीं देश भर में कोरोना मरीजो का आंकड़ा 236657 पहुचा।      दिल्ली में कोरोना के 1330 नये मामले एक दिन में आए,भारत में 2,26,770 कोरोना मरीजो का आंकड़ा पहुचा।      पालिका परिषद ने कोरोना पीड़ित कर्मचारियों की सुविधा के लिए "स्टाफ वेलफेयर सेल" और कोर ग्रुप" का गठन किया ।      गृह मंत्रालय द्वारा बुलाई गई जेसीए बैठक में अगर सीपी श्रीवास्तव की चली तो कई टॉप AGMUT कैडर के आईपीएस अधिकारी दिल्ली पुलिस से ट्रांसफर होंगे और पसन्द के अधिकारियों को दिल्ली में लाया जाएगा।      राजधानी दिल्ली में एक दिन में 1359 कोरोना के केस आये दिल्ली में कोरोना मरीजो का आंकड़ा 25 हजार के पार,देश मे भी नही थम रही रफ़्तार आंकड़ा 2,16,919 पर पहुचा।      एक दिन में 1513 मरीज आने से हड़कंप, दिल्ली में अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा,भारत मे कुल 207,615 कोरोना मरीज हुए।      पालिका परिषद द्वारा कमर्शियल बिल्डिंग्स, अन्य कार्यालयो, भवनों और मुख्यालय - पालिका केंद्र के लिए युद्ध स्तर पर सैनिटाइजेशन अभियान शुरू किया।       दिल्ली में कोरोना के एक दिन में रिकॉर्ड 1298 मरीज,भारत मे 2 लाख के करीब कोरोना मरीजो का आंकड़ा पहुचा।      बहुचर्चित जेसिका लाल मर्डर के आरोपी मनु शर्मा को जेल से रिहा किया गया। सीपी डडवाल के लड़के से झगड़ा करने पर एक बार पैरोल भी कैंसिल हुई थी।      सीबीआई ने छापा मारकर रशियन चाइल्ड यौन शोषण वाली वेबसाइटों को चलाने वाले पकड़े।      दिल्ली में 24 घण्टो में 990 कोरोना केस आये, 21 हजार के करीब आंकड़ा हुआ। देश भर मे 1,90,535 मरीज हुए।      देश की राजधानी दिल्ली में एक दिन में कोरोना मरीजो की बेतहाशा वृद्धि ,करीब 1300 मरीजो के साथ आंकड़ा 20 हजार के करीब हुआ। देश मे 182143 मरीज हुए।      दिल्ली पुलिस ने खोए दो दिनों में अपने दो जांबाज अधिकारी, कल ASI शेष मणि के बाद आज ASI विक्रम यादव की मौत।      केजरीवाल सरकार ने केंद्र सरकार से 5000 करोड़ रुपये मांगे कहा कर्मचारियों को सैलरी देने का संकट है।      दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच में तैनात असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर की कोरोना से मौत।      महंत सुरेश शर्मा सहित सभी सन्त महात्माओं ने धार्मिक स्थलों को खोलने के फैसले का स्वागत किया।      दिल्ली में नही रुकी रफ्तार आज 1163 केस सामने आए,भारत मे पौने दो लाख के करीब मरीज हुए।      निकाह के लिये पूर्व निगम पार्षदा इशरत जहां को मिली अंतरिम जमानत।      नही थमी दिल्ली में रफ्तार, एक दिन में 1106 कोरोना केस आये,भारत मे 1,65,799 कोरोना मरीज हुए। संक्रमित देशों की सूची में भारत नौवें स्थान पर ।      दिल्ली में कोरोना के 1024 नए केस आने से हड़कंप, देश भर में कोरोना के 1,58,333 मरीज हुए।     

( 11/05/2020)  (Pradeep Mahajan)  पालिका परिषद ने नई दिल्ली क्षेत्र में जल जनित रोगों को रोकने के लिए एंटी लार्वा कार्रवाई को मजबूत किया,परिषद क्षेत्र में डेंगू या चिकनगुनिया का कोई मामला दर्ज नहीं हुआ है।

 

पालिका परिषद ने नई दिल्ली क्षेत्र में जल जनित रोगों को रोकने के लिए एंटी लार्वा कार्रवाई को मजबूत किया,परिषद क्षेत्र में डेंगू या चिकनगुनिया का कोई मामला दर्ज नहीं हुआ है।

(आईएनएस मीडिया) राष्ट्रीय जल जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम (एनवीबीडीसीपी) - स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार की एक नोडल एजेंसी है, इससे प्राप्त जानकारी के अनुसार इस वर्ष डेंगू और चिकनगुनिया के मामले की संभावना बहुत अधिक है । इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (एनडीएमसी) ने मलेरिया, डेंगू और चिकनगुनिया जैसी जल जनित बीमारियों को रोकने के लिए नई क्षेत्र में लार्वा जनन विरोधी उपायों और कार्रवाई को मजबूत कर लिया है।
इस साल अप्रैल तक, डेंगू और चिकनगुनिया के मामलों की संख्या पिछले साल की तुलना में ढाई ( 2.5 ) गुना अधिक पाई गई है, लेकिन आज तक नई दिल्ली नगरपालिका परिषद क्षेत्र में डेंगू या चिकनगुनिया का कोई भी मामले सामने नहीं आया हैं।
नई दिल्ली नगरपालिका परिषद के स्वास्थ्य विभाग ने राष्ट्रपति भवन, रेल भवन, सरदार पटेल भवन, शास्त्री भवन, नार्थ और साऊथ एवेन्यू और तालकटोरा मार्ग पर सभी परिसरों की जांच के लिए एंटी लार्वा कार्रवाई के उद्देश्य से अपनी क्रॉस चेकिंग टीम को एक एक स्थान जांच करने के आवश्यक निर्देश दिए है। पालिका परिषद के कर्मचारी सभी निर्माण स्थलों और अन्य स्थानों पर जल के संग्रह का पता लगाने के लिए पहले से ही क्षेत्र के परिसरों का दौरा कर रहे हैं।
पालिका परिषद के स्वास्थ्य विभाग ने एंटी लार्वा एक्शन के लिए दो व्हीकल माउंटेड फॉगिंग मशीन, लगभग 30 पोर्टेबल फॉगिंग मशीन और 130 नोजपैक स्प्रेयर मशीनों को तैनात किया हुआ है। क्षेत्र में लार्वा जनन की सघन जांच गतिविधियों को करने के लिए लगभग 162 गैंग मैन हैं। 5 सेनेटरी इंस्पेक्टरों को नई दिल्ली क्षेत्र के सभी 14 स्वच्छता सर्कल्स में मलेरियारोधी कार्य की निगरानी के लिए तैनात किया गया है।
पालिका परिषद के स्वास्थ्य विभाग की टीम के सदस्य ओवरहेड टैंक की बिना कवर के उपस्थिति पर विशेष ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। परिषद ने रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशंस (आरडब्ल्यूए), मार्केट्स ट्रेडर्स एसोसिएशन (एमटीए), पुलिस स्टेशनों के एसएचओ और सीपीडब्ल्यूडी के कार्यकारी अभियंताओं को अपने अधिकार क्षेत्र में मच्छरों के प्रजनन को रोकने के सभी प्रयासों के लिए एडवाइजरी पत्र जारी किए हैं। 
पालिका परिषद के अध्यक्ष द्वारा मुख्य अभियंता (सिविल) को खुले ओवरहेड टैंक, मलबा या अन्य जलसंग्रहण के स्थानों ( हौदी इत्यादि ) का पता लगाने के लिए  निर्देश दिया गया है, जहां लार्वा होने की सम्भावना हो सकती है । पालिका परिषद के अध्यक्ष ने अंतर-क्षेत्रीय समन्वय के साथ लार्वारोधी गतिविधियों को और अधिक मजबूत करने तथा नई दिल्ली क्षेत्र में नालों, नालियों और अन्य खुले जल निकायों पर अधिक ध्यान केंद्रित करने के लिए निर्देश दिए है ।
कोरोना वायरस ( कोविद -19 ) महामारी की स्थिति को ध्यान में रखते हुए, पालिका परिषद इस सम्बन्ध में  सूचना, शिक्षा और संचार (आईईसी) गतिविधियों को आरडब्ल्यूए, एमटीए के प्रतिनिधियों तथा अन्य अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग या मोबाइल से मोबाइल के माध्यम से सामाजिक दूरी के मानदंडों का पालन करते हुए सम्पर्क बना रही है, जिससे मच्छर नही पनपने देने के लिए वे स्वयं द्वारा भी अपने स्तर पर कार्रवाई कर सकें। इस वर्ष कोरोना वायरस (covid19 ) महामारी के कारण, स्कूलों के छात्रों, आरडब्ल्यूए, एमटीए लिए सेमिनार सत्रों या अन्य सार्वजनिक गतिविधियों के बजाय जागरूकता के लिए अब पालिका परिषद एसएमएस संदेशों पर ध्यान केंद्रित कर रही है, मोबाइल फोन पर कॉल कर रही है, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर रही है, सार्वजनिक स्थानों पर होर्डिंग और पोस्टर लगा रही है। परिषद जल जनित बीमारी की रोकथाम के बारे में आम जनता को जागरूक करने के लिए " क्या करें और क्या न करें " (Do''s & Don''ts) पर पर्चे / पैम्फलेट इत्यादि मुद्रित सामग्री वितरित कर रही है।
नई दिल्ली नगरपालिका परिषद प्रत्येक सप्ताह 50000 एसएमएस जारी कर रही है ताकि निवासियों को अपने इलाके में मच्छरों के प्रजनन को फैलने से रोकने के लिए कार्रवाई करने के लिये जागरूक किया जा सके। 
पालिका परिषद ने नई दिल्ली क्षेत्र के सभी निवासियों और आगंतुकों से अपील की है कि वे जल जनित बीमारियों को रोकने के लिए अपनी गतिविधियों में नागरिक निकाय का सहयोग करें और कहा है कि यह स्पष्ट है आम जनता के साथ-साथ सीपीडब्ल्यूडी,अस्पतालों,सरकारी और गैर-सरकारी कार्यालयों जैसे अन्य स्थानों के लोगों के समर्थन के बिना,मच्छरों के प्रजनन की जाँच करना अकेले पालिका परिषद के लिये बहुत मुश्किल होगा।

Back