दिल्ली में कोरोना मरीजो की नही थमी रफ़्तार एक दिन में 1320 नये मामले वहीं देश भर में कोरोना मरीजो का आंकड़ा 236657 पहुचा।      दिल्ली में कोरोना के 1330 नये मामले एक दिन में आए,भारत में 2,26,770 कोरोना मरीजो का आंकड़ा पहुचा।      पालिका परिषद ने कोरोना पीड़ित कर्मचारियों की सुविधा के लिए "स्टाफ वेलफेयर सेल" और कोर ग्रुप" का गठन किया ।      गृह मंत्रालय द्वारा बुलाई गई जेसीए बैठक में अगर सीपी श्रीवास्तव की चली तो कई टॉप AGMUT कैडर के आईपीएस अधिकारी दिल्ली पुलिस से ट्रांसफर होंगे और पसन्द के अधिकारियों को दिल्ली में लाया जाएगा।      राजधानी दिल्ली में एक दिन में 1359 कोरोना के केस आये दिल्ली में कोरोना मरीजो का आंकड़ा 25 हजार के पार,देश मे भी नही थम रही रफ़्तार आंकड़ा 2,16,919 पर पहुचा।      एक दिन में 1513 मरीज आने से हड़कंप, दिल्ली में अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा,भारत मे कुल 207,615 कोरोना मरीज हुए।      पालिका परिषद द्वारा कमर्शियल बिल्डिंग्स, अन्य कार्यालयो, भवनों और मुख्यालय - पालिका केंद्र के लिए युद्ध स्तर पर सैनिटाइजेशन अभियान शुरू किया।       दिल्ली में कोरोना के एक दिन में रिकॉर्ड 1298 मरीज,भारत मे 2 लाख के करीब कोरोना मरीजो का आंकड़ा पहुचा।      बहुचर्चित जेसिका लाल मर्डर के आरोपी मनु शर्मा को जेल से रिहा किया गया। सीपी डडवाल के लड़के से झगड़ा करने पर एक बार पैरोल भी कैंसिल हुई थी।      सीबीआई ने छापा मारकर रशियन चाइल्ड यौन शोषण वाली वेबसाइटों को चलाने वाले पकड़े।      दिल्ली में 24 घण्टो में 990 कोरोना केस आये, 21 हजार के करीब आंकड़ा हुआ। देश भर मे 1,90,535 मरीज हुए।      देश की राजधानी दिल्ली में एक दिन में कोरोना मरीजो की बेतहाशा वृद्धि ,करीब 1300 मरीजो के साथ आंकड़ा 20 हजार के करीब हुआ। देश मे 182143 मरीज हुए।      दिल्ली पुलिस ने खोए दो दिनों में अपने दो जांबाज अधिकारी, कल ASI शेष मणि के बाद आज ASI विक्रम यादव की मौत।      केजरीवाल सरकार ने केंद्र सरकार से 5000 करोड़ रुपये मांगे कहा कर्मचारियों को सैलरी देने का संकट है।      दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच में तैनात असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर की कोरोना से मौत।      महंत सुरेश शर्मा सहित सभी सन्त महात्माओं ने धार्मिक स्थलों को खोलने के फैसले का स्वागत किया।      दिल्ली में नही रुकी रफ्तार आज 1163 केस सामने आए,भारत मे पौने दो लाख के करीब मरीज हुए।      निकाह के लिये पूर्व निगम पार्षदा इशरत जहां को मिली अंतरिम जमानत।      नही थमी दिल्ली में रफ्तार, एक दिन में 1106 कोरोना केस आये,भारत मे 1,65,799 कोरोना मरीज हुए। संक्रमित देशों की सूची में भारत नौवें स्थान पर ।      दिल्ली में कोरोना के 1024 नए केस आने से हड़कंप, देश भर में कोरोना के 1,58,333 मरीज हुए।     

( 03/05/2020)  (Pradeep Mahajan) NDMC ड्यूटी के दौरान अगर किसी कर्मी की मौत COVID-19 के कारण होती है तो परिषद 15 लाख का मुआवजा देगी।

 

NDMC ड्यूटी के दौरान अगर किसी कर्मी की मौत COVID-19 के कारण होती है तो परिषद 15 लाख का मुआवजा देगी।

(आईएनएस मीडिया) नई दिल्ली नगरपालिका परिषद ने बताया कि ऐसे किसी भी कर्मचारी ( नियमित, संविदात्मक, आरएमआर, टीएमआर, आउटसोर्स श्रमिक आदि) की मौत कोरोना महामारी से होती है तो NDMC ने 15 लाख रुपये का मुआवजा प्रदान करने का निर्णय किया है।
नई दिल्ली नगरपालिका परिषद  COVID-19 से अपने कर्मचारियों / श्रमिकों की सुरक्षा और संरक्षण के लिए सभी उपाय भरसक अपना रही है, फिर भी किसी स्थिति में COVID-19 के संक्रमण के कारण मृत्यु के मामले में उनके परिवार के सदस्यों को वित्तीय मदद का आश्वासन देना आवश्यक मानती है, जिससे कि ऐसे कर्मचारी इस कठिन समय मे पालिका परिषद की सेवा करने में उनका मनोबल ना टूटे।
पालिका परिषद के कल्याण विभाग द्वारा जारी आदेश के अनुसार यह मुआवजा इसके जारी होने की तारीख से 3 महीने की अवधि के लिए सभी पात्र मामलों के लिए उपलब्ध होगा। यह एक अस्थायी उपाय है और इसके लिये पालिका परिषद में नियुक्ति के मानदंडों को पूरा करने के लिए कोई आयु सीमा निर्धारित नहीं है। मृतक के कानूनी उत्तराधिकारी को ही 15 लाख रुपये का भुगतान किया जाएगा। 
NDMC के जारी आदेश के अनुसार मुआवजे के लिए दावा मृतक के कानूनी उत्तराधिकारी द्वारा संबंधित विभाग के प्रमुख के माध्यम से प्रस्तुत किया जाएगा, जिसका विधिवत रूप से कल्याण विभाग द्वारा अध्यक्ष, नई दिल्ली नगरपालिका परिषद की स्वीकृति प्राप्त करने के लिए और लेखा विभाग द्वारा भुगतान जारी करने के लिए मामले को आगे बढ़ाने के लिए सत्यापित किया जाएगा। 
वही आउटसोर्स श्रमिकों के मामले में, मुआवजा दावे को जमाकर्ता द्वारा श्रमिक और उसके परिवार के सदस्यों की स्थिति को सत्यापित करने के बाद जमा किया जाएगा, जो संबंधित विभाग द्वारा दावे की जांच और प्रक्रिया पूरा करके फिर इसे कल्याण विभाग को अग्रेषित करेंगे। सभी मामलों की जांच (स्क्रीनिंग ) नई दिल्ली नगरपालिका परिषद के निदेशक (कल्याण),  निदेशक (चिकित्सा सेवाएं), निदेशक (वित्त) और संबंधित विभागाध्यक्ष की एक समिति द्वारा की जाएगी।लेकिन यह NDMC में ड्यूटी पर कार्यरत नहीं होने वाले कर्मचारियों को कवर नही करेगा।

Back