यूपी सरकार ने लखनऊ सहित 15 जिलो को किया पूरी तरह सील।      दिल्ली में 576 कोरोना पॉजिटिव।      कोरोना से निपटने के लिये 5 T स्टेप-केजरीवाल।      कोरोना के 4421 मरीज हुए 354 ठीक हुए तो 114 की मौत।      29 शराब की पेटियों की तस्करी में दिल्‍ली पुलिस का ASI पकड़ा,किया सस्पेंड।      मददगार बनी पुलिस#डीसीपी ने कैश अवार्ड दिया, तो कही बच्चे के पिता ने आभार व्यक्त किया।      मरकज बिल्डिंग के अवैध निर्माण को ढहाने की तैयारी।      भारतीय सेना ने 9 आंतकवादी मार गिराए।      24 घण्टो में 525 मामले आये।      शराब के ठेके में हुई चोरी।      रसोई में हो रहा है नियमो का पालन-मनोज सिंघल      शाबाश दिल्ली पुलिस.…….      15-30 मार्च क्राइम में कमी-दिल्ली पुलिस      सीएम योगी ने जमातियों पर NSA लगाया।      मेडिकल स्टाफ से भर्ती जमाती कर रहे हैं अभद्र व्यवहार।      शाहदरा बार अपने वकील साथियों के साथ-वी के सिंह      कोरोना पर पुलिस कमिश्नर का पत्र।      कोरोना योद्धाओं की शाहदत पर 1 करोड़ मुआवजा-केजरीवाल      दिल्ली पुलिस और दिल्ली पुलिस और नेता बने जानवरो के लिए फरिश्ते।      मोहल्ला क्लिनिक का एक और डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव मिला।     

( 07/01/2020)  (Pradeep Mahajan) दिल्ली की जनता हेवीवेट उम्मीदवार को ही हराती है, जनता की नब्ज पहचानो।

 
दिल्ली की जनता हेवीवेट उम्मीदवार को ही हराती है, जनता की नब्ज पहचानो।

दिल्ली की जनता हेवीवेट उम्मीदवार को ही हराती है, जनता की नब्ज पहचानो।
दिल्ली विस चुनाव का काउंट डाउन शुरू हो गुण है, दिल्ली की जनता की खासियत समझ लो या लतियाने की आदत समझ लो वो सिर्फ बेताज बादशाहों को ही तख़्त से गिराती है और नोसखियो या किड्स टाइप के नेताओ को जिताती हैं।
दिल्ली की राजनीति में कभी एच के एल भगत की तूती बोला करती थी दिल्ली की राज नीति में कई नेता इनकी ड्योढ़ी की ही देन थी वो चाहे राम बाबू शर्मा हो,अरविंदर लवली हो,डॉ वालिया हो ऐसे दर्जनों नेताओ को बनाने वाले भगत जी थे जिन्हें बेताज बादशाह का खिताब भी मिला था लेकिन आज लोग उनके नाम से भी कतराते हैं जो कभी टिकटों को बाटा करते थे खुद उनके लड़के को पार्षद तक का भी टिकट नही मिला,इसी तरह शीला दीक्षित के लिए कहा जाता था कि ये विकास की देवी है दिल्ली में इन्हें कोई नही हरा सकता  लेकिन जब जनता अपनी पर आई तो की इनकी भी धुलाई इसी तरह विकास पुरुष के नाम से डॉ वालिया का नाम भी आता था कहा जाता था कि इन्हें कोई नही मात दे सकता परन्तु ये ही दिल्ली की जनता है उन्हें हरा दिया ऐसे कई उदाहरण है जिनके नामो से तूती बोला करती थी किरण बेदी,राज कुमार चौहान,संदीप दीक्षित, करण सिंह तंवर जैसे दर्जनों उदाहरण है जिनको कम हेवीवेट वाले उम्मीदवारों ने शिकस्त दी।
इसलिए नेताओ जनता की नब्ज पहचानो जीत पार्टी से नही जनता की भलाई से होनी है।

Back