यूपी सरकार ने लखनऊ सहित 15 जिलो को किया पूरी तरह सील।      दिल्ली में 576 कोरोना पॉजिटिव।      कोरोना से निपटने के लिये 5 T स्टेप-केजरीवाल।      कोरोना के 4421 मरीज हुए 354 ठीक हुए तो 114 की मौत।      29 शराब की पेटियों की तस्करी में दिल्‍ली पुलिस का ASI पकड़ा,किया सस्पेंड।      मददगार बनी पुलिस#डीसीपी ने कैश अवार्ड दिया, तो कही बच्चे के पिता ने आभार व्यक्त किया।      मरकज बिल्डिंग के अवैध निर्माण को ढहाने की तैयारी।      भारतीय सेना ने 9 आंतकवादी मार गिराए।      24 घण्टो में 525 मामले आये।      शराब के ठेके में हुई चोरी।      रसोई में हो रहा है नियमो का पालन-मनोज सिंघल      शाबाश दिल्ली पुलिस.…….      15-30 मार्च क्राइम में कमी-दिल्ली पुलिस      सीएम योगी ने जमातियों पर NSA लगाया।      मेडिकल स्टाफ से भर्ती जमाती कर रहे हैं अभद्र व्यवहार।      शाहदरा बार अपने वकील साथियों के साथ-वी के सिंह      कोरोना पर पुलिस कमिश्नर का पत्र।      कोरोना योद्धाओं की शाहदत पर 1 करोड़ मुआवजा-केजरीवाल      दिल्ली पुलिस और दिल्ली पुलिस और नेता बने जानवरो के लिए फरिश्ते।      मोहल्ला क्लिनिक का एक और डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव मिला।     

( 17/12/2019)  (Pradeep Mahajan) जामिया प्रकरण में पुलिस ने छापेमारी करके 10 लोगों को गिरफ्तार किया जिनमें से 3 लोग पुलिस के घोषित अपराधी

 
जामिया प्रकरण में पुलिस ने छापेमारी करके 10 लोगों को गिरफ्तार किया जिनमें से 3 लोग पुलिस के घोषित अपराधी

जामिया प्रकरण में पुलिस ने  छापेमारी करके 10 लोगों को गिरफ्तार किया जिनमें से 3 लोग पुलिस के घोषित अपराधी 
जामिया दंगे के पीछे क्या एक आपराधिक षडयंत्र भी था जामिया मामले की जांच के दौरान पुलिस को कई जानकारी मिल रही है गिरफ्तार लोगों से मिली जानकारी पर  नेताओं को भी पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है, पुलिस को यह शक भी है कि इस हंगामे के पीछे कुछ देशद्रोही तत्व भी हो सकते हैं.
दिल्ली पुलिस ने फुटेज के आधार पर छापेमारी करके  10 लोगों को गिरफ्तार किया पुलिस के अनुसार  इन 10 लोगों में से 3 लोग पुलिस के घोषित अपराधी भी हैं,जिनका  आपराधिक रिकॉर्ड भी  है. 
मिली जानकारी के अनुसार  गिरफ्तार लोगों से पूछताछ के दौरान कुछ सोशल  ग्रुप का पता चला है,जिनके जरिये  संदेशो और निर्देशों का आदान प्रदान किया गया था अब तक की पूछताछ के दौरान जो बयान सामने आए हैं वो साफ तौर पर इशारा करते हैं कि यह पूरा हंगामा सुनियोजित था गिरफ्तार तीन लोग पुलिस के घोषित अपराधी हैं जो पैसे लेकर कुछ भी कर सकते हैं. वो इतने पढ़े लिखे भी नहीं है जो यह समझ सकें कि नागरिकता के नए कानून से उन्हें कोई नुकसान नहीं होने वाला तो वे हंगामा क्यों करें. फिलहाल पुलिस ने इन लोगों के बयानों के आधार पर कुछ लोगों को चिन्हित किया है जिनकी तलाश की जा रही है. पुलिस का कहना है कि इस मामले में किसी को कोई क्लीनचिट नहीं दी गई है. लेकिन उन लोगों को डरने की जरूरत नहीं है जिन्होंने कुछ नहीं किया. खासकर छात्र किसी के बहकावे में ना आएं.
सूत्रों के अनुसार जांच के लिए पुलिस कुछ नेताओं को भी बुला सकती  है,इस प्रकरण में पुलिस और अन्य जांच एजेंसिया ये भी जांच कर रही है की देश विरोधी ताकते तो कही सक्रिय नहीं है read story on www.insmedia.org

Back