पुलिस की पहल पर 61 लोगो को रोजगार मिला।      ‘प्रेस की स्वतंत्रता सर्वोपरि है लेकिन पत्रकारिता एक तरफा ना हो-सुप्रीम कोर्ट ।      दिल्ली पुलिस पर अब ठग है भारी, JT. कमिश्नर कटियार को चपत मारी।      पुलिस के खिलाफ खबरें चलाने पर 5 पत्रकारों पर यूपी पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट लगाया, 4 गिरफ्तार।      सीबीआई के 15 अधिकारी गृह मंत्राल अवार्ड से सम्मानित।      बदमाश को पकड़ने गए पुलिस वालों की आंखों पर मिर्ची डाली।      सूचना का अधिकार भ्रष्ट अधिकारियों पर नकेल कसता है- सुबोध गोस्वामी      बैखोफ बदमाशो ने पुलिस वालों को पीटा, घसीटा पिस्टल छीनी, बदमाश गिरफ्तार।      जम्मू कश्मीर के पहले उपराज्यपाल बने आईपीएस विजय कुमार।      मोदी जी कश्मीर मुद्दे पर सुतली बम ना बनना।      सीपी पटनायक ने दिल्ली में आंतकी हमले के मद्देनजर करी हाई लेवल मीटिंग।      सिपाही को अपनी रक्षा के लिए गोली चलानी पड़ी।      इंदिरापुरम थाने के 5 पुलिसकर्मी सस्पेंड,कपल से मांगे 20 हजार रुपये।      पुलिस कस्टडी से फरार हुए भगोड़े आरोपी को दोबारा गिरफ्तार किया।      दिल्ली के उपराज्यपाल के PA से ठगी।       डॉक्टर को ब्लैकमेल करने वाले 2 युवतियों सहित 4 लोग गिरफ्तार।      श्रीनिवास बने युवा कांग्रेस के अध्यक्ष।      MLA से 3 करोड़ की रंगदारी मांगने वाला पत्रकार गिरफ्तार।            अभी दीवार गिरी, क्या निगम को इंतजार किसी बड़े हादसे का     

( 24/08/2019)  (Pradeep Mahajan) पुलिस के खिलाफ खबरें चलाने पर 5 पत्रकारों पर यूपी पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट लगाया, 4 गिरफ्तार।

 
पुलिस के खिलाफ खबरें चलाने पर 5 पत्रकारों पर यूपी पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट लगाया, 4 गिरफ्तार।

पुलिस के खिलाफ खबरें चलाने पर 5 पत्रकारों पर यूपी पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट लगाया, 4 गिरफ्तार।
(प्रदीप महाजन)उत्तर प्रदेश जिला गौतमबुद्ध नगर थाना कासना ने  पुलिस ने शुक्रवार को चार पत्रकारों को गिरफ्तार किया है. पुलिस के अनुसार ये पत्रकार पुलिस अधिकारियों को ब्लैक मेल किया करते थे,गिरफ्तार किए गए पत्रकार सुशील पंडित, चंदन, नीतीश पांडेय और उदित गोयल है पांचवा रमन ठाकुर फरार है पुलिस के मुताबिक सुनील पंडित SANSANINDIA.COM न्यूज़ पोर्टल,व पैनी खबर नाम से समाचार पत्र निकालता है, नीतीश पांडेय POLICENEWSUP.COM न्यूज पोर्टल,चन्दन राय policemedianews.com न्यूज़ पोर्टल चलाते थे व पुलिस ले खिलाफ नकरात्मक, असत्य व गलत खबरे चलकर उन्हें ब्लैकमेल किया करते थे, इनके खिलाफ पुलिस को पूर्व में कई शिकायतें मिल चुकी थी।जानकारी के मुताबिक, देर रात चारों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।इनमें से दो आरोपी पहले भी जेल जा चुके हैं।मीडिया जगत में पत्रकारों पर गैंगस्टर लगाने जैसी कार्रवाई करने पर हलचल मची हुई है।दूसरी ओर लोगो का कहना है कि ये मामला दो आईपीएस का है, गिरफ्तार किए गए पत्रकारों को अजयपाल शर्मा के खेमे का माना जाता है,आईपीएस वैभव कृष्ण इन दिनों नोएडा के एसएसपी हैं. इनसे ठीक पहले अजयपाल शर्मा नोएडा के एस एस पी थे। सूत्रों के मुताबिक IPS अजय पाल शर्मा VS वैभव कृष्ण की लड़ाई में नीतीश पांडेय और चंदन राय को गिरफ्तार किया गया है।गौरतलब है कि आईपीएस  वैभव कृष्ण ने नोएडा का एस एस पी बनने के बाद सबसे पहले अजय पाल शर्मा के चहेते इंस्पेक्टरों को हटाया और कुछ को गिरफ्तार भी  किया था।जिसपर उपरोक्त पत्रकार पुलिस के खिलाफ खबरे चला रहे थे,इस प्रकरण में कई पत्रकार और उनके संगठन इसे पत्रकारिता की हत्या मान रहे है उनका कहना है कि  गैंगस्टर एक्ट लगाना गलत है।Read story on www.insmedia.org

Back