बैखोफ बदमाशो ने पुलिस वालों को पीटा, घसीटा पिस्टल छीनी, बदमाश गिरफ्तार।      जम्मू कश्मीर के पहले उपराज्यपाल बने आईपीएस विजय कुमार।      मोदी जी कश्मीर मुद्दे पर सुतली बम ना बनना।      सीपी पटनायक ने दिल्ली में आंतकी हमले के मद्देनजर करी हाई लेवल मीटिंग।      सिपाही को अपनी रक्षा के लिए गोली चलानी पड़ी।      इंदिरापुरम थाने के 5 पुलिसकर्मी सस्पेंड,कपल से मांगे 20 हजार रुपये।      पुलिस कस्टडी से फरार हुए भगोड़े आरोपी को दोबारा गिरफ्तार किया।      दिल्ली के उपराज्यपाल के PA से ठगी।       डॉक्टर को ब्लैकमेल करने वाले 2 युवतियों सहित 4 लोग गिरफ्तार।      श्रीनिवास बने युवा कांग्रेस के अध्यक्ष।      MLA से 3 करोड़ की रंगदारी मांगने वाला पत्रकार गिरफ्तार।            अभी दीवार गिरी, क्या निगम को इंतजार किसी बड़े हादसे का      सीबीआई ने सीबीआई के ही 19 अफसरों पर मुकदमा दर्ज किया।      दिल्ली पुलिस के करप्ट और लापरवाह पुलिसवालों को जबरन रिटायर किया जाएगा।      घर बैठे चालान भरे,ई चालान सिस्टम अब शुरू-सीपी पटनायक।      22 पूर्व कैडेटों को मिला एनसीसी अचीवर्स अवार्ड 2019      MHA ने आईएएस,आईपीएस अधिकारियों की ट्रांसफर/पोस्टिंग की।      पुलिस को पीटने वाले उनको माँ बहन की गाली देने वालो के साथ पुलिस अधिकारी,अफसरों ने पुलिस का भय खत्म किया दिया।           

( 25/07/2019)  (Pradeep Mahajan) MLA से 3 करोड़ की रंगदारी मांगने वाला पत्रकार गिरफ्तार।

 
MLA से 3 करोड़ की रंगदारी मांगने वाला पत्रकार गिरफ्तार।

MLA से 3 करोड़ की रंगदारी मांगने वाला पत्रकार गिरफ्तार।
दिल्ली के पड़ोसी राज्य गुरुग्राम में विधायक उमेश अग्रवाल से 3 करोड़ की रंगदारी मांगने की ब्लैकमेलिंग के आरोप में कथित पत्रकार विजय शुक्ला को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार विजय पर आरोप है कि विधायक उमेश अग्रवाल से यूट्यूब पर खबर ना चलाने के नाम पर 3 करोड़ रुपये की मांग कर रहा था। पुलिस ने विधायक की शिकायत पर मुकदमा दर्ज करके आरोपी को गिरफ्तार करके उसे रिमांड पर ले लिया है। पुलिस के अनुसार आरोपी विजय शुक्ला नाम का यह पत्रकार यूट्यूब चैनल पर खबर को न चलाने के लिए लगातार उमेश अग्रवाल पर दबाव बना रहा था और विधायक से 3 करोड़ रुपए की मांग कर रहा था। विधायक के अनुसार आरोपी ब्लैकमेल करके फर्जी खबर को प्लांट करके उन्हें बदनाम करने का दबाव बना रहा था।
पुलिस जांच के अनुसार आरोपी और उसके साथी दिल्ली में एक यूट्यूब चैनल चलाता है जिसका कोई रजिस्ट्रैशन नहीं है।
गौरतलब है कि इस समय फर्जी चैनलों और खबरिया यूट्यूब चैनलों की बाढ़ आई हुई है,हर गली मोहल्ले में 500 का डोमेन 1000 रुपये की माईक आई डी लेकर कथित पत्रकार अपने जेबी चैनलों के मालिक बने हुए हैं यहाँ पर ये कथित मालिक युवा- युवतियों को बिना तनख्वाह भत्ते के अपने फर्जी चैनल का झंडा डंडा देकर मार्केट में "खुद कमाओ और हमारे लिए भी लाओ" का मंत्र देकर भेज देते हैं।जोकि पत्रकारिता के नाम पर सिर्फ बदनामी दे रहे हैं सरकारी नीति इस प्रकरण में जीरो बटा जीरो होने से इन कथित खबरिया झण्डा- डंडा चैनलों का धंधा फल फूल रहा है।
Read story on www.insmedia.org

Back