दिल्ली में 24 घण्टो में 990 कोरोना केस आये, 21 हजार के करीब आंकड़ा हुआ। देश भर मे 1,90,535 मरीज हुए।      देश की राजधानी दिल्ली में एक दिन में कोरोना मरीजो की बेतहाशा वृद्धि ,करीब 1300 मरीजो के साथ आंकड़ा 20 हजार के करीब हुआ। देश मे 182143 मरीज हुए।      दिल्ली पुलिस ने खोए दो दिनों में अपने दो जांबाज अधिकारी, कल ASI शेष मणि के बाद आज ASI विक्रम यादव की मौत।      केजरीवाल सरकार ने केंद्र सरकार से 5000 करोड़ रुपये मांगे कहा कर्मचारियों को सैलरी देने का संकट है।      दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच में तैनात असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर की कोरोना से मौत।      महंत सुरेश शर्मा सहित सभी सन्त महात्माओं ने धार्मिक स्थलों को खोलने के फैसले का स्वागत किया।      दिल्ली में नही रुकी रफ्तार आज 1163 केस सामने आए,भारत मे पौने दो लाख के करीब मरीज हुए।      निकाह के लिये पूर्व निगम पार्षदा इशरत जहां को मिली अंतरिम जमानत।      नही थमी दिल्ली में रफ्तार, एक दिन में 1106 कोरोना केस आये,भारत मे 1,65,799 कोरोना मरीज हुए। संक्रमित देशों की सूची में भारत नौवें स्थान पर ।            दिल्ली में कोरोना के 1024 नए केस आने से हड़कंप, देश भर में कोरोना के 1,58,333 मरीज हुए।      पालिका केंद्र और शहीद भगत सिंह प्लेस को कर्मचारियों के कोरोना वायरस संक्रमित होने के बाद सील किया गया।      दिल्ली पुलिस कर्मी सिंघम, दबंग ना बने तनावपूर्ण डयूटी ना करे,कोरोना किसी का सगा नही बचाव रखे।      उत्तरी दिल्ली की डीसीपी भी कोरोना पॉजिटिव हुई। करीब 500 पुलिसकर्मी,7 एसएचओ और 2 आईपीएस अब तक कोरोना की चपेट में।      अस्पताल की मुफ्त जमीन लेने वाले क्यो नही कोरोना पीड़ितों का मुफ्त या कम फीस लेकर ईलाज करते-सुप्रीम कोर्ट      सीबीआई ने चावल कम्पनी के तीन निदेशकों पर स्टेट बैंक की शिकायत पर 100 करोड़ के नुकसान का केस दर्ज किया।      दिल्ली में कोरोना मरीजो ने भरी बड़ी उछाल एक दिन में 800 के करीब केस आये,दिल्ली में संख्या 15 हजार से ऊपर पहुची, भारत मे कोरोना मरीजो ने डेढ़ लाख का आंकड़ा पार किया,अबतक 4337 की मौत हुई।      ये क्या हो रहा है सीपी साब.. AC कमरों से बाहर निकालो अधिकारी,कैसे कोरोना और लोगो से माँ बहन की गाली खाकर लाईन हाजिर हो रही है पुलिस..      दिल्ली में 24 घण्टो में 412 मरीज आये ,कुल 14465 मरीज हुए। देश भर में मरीजो का आंकड़ा 145380 पहुचा वही रिकवरी रेट 41.61प्रतिशत हुआ।      दिल्ली में 24 घण्टो में 635 कोरोना मरीजों के साथ आंकड़ा पहुचा 14 हजार से ऊपर,भारत मे कोरोना मरीजों ने पकड़ी रफ्तार एक दिन में 7 हजार के साथ 1,38,845 मरीज हुए।     

( 10/05/2019)  (Pradeep Mahajan) नकारा आईपीएस पर गिरेगी गाज,उन्हें समय से पहले हटाया जाएगा।

 
नकारा आईपीएस पर गिरेगी गाज,उन्हें समय से पहले हटाया जाएगा। (प्रदीप महाजन) दिल्ली जैसे शहर में कई आईपीएस अधिकारी बरसो से जमे हुए अगर उनका ट्रांसफर दिल्ली से बाहर हो जाता हैं तो वो राजनीतिक सिफारिश लगा कर या कोई जुगाड़ करके फिर दिल्ली में पोस्टिंग करा लेते हैं,और वह आईपीएस जो दिल्ली में एसीपी, डीसीपी,या किसी बड़े ओहोदे पर लगे होते है अपने घर से आफिस और ऑफिस से घर तक की ड्यूटी करते हैं फील्ड में तो जाते ही नही है उनके अधीनस्थ उनको समयानुसार मोटी फटीक पहुचा देते हैं जिसका लाभ थानों में बैठा नीचे से लेकर ऊपर तक का पुलिस वाला लेता है,और थानों में शिकायत कर्ता और पब्लिक का उत्पीड़न होता है । देश भर के आईपीएस अधिकारियों के सर्विस रिकॉर्ड की गृह मंत्रालय ने समीक्षा करी जिसमे करीब 1200 में से 10 आईपीएस पर गाज गिर सकती है ,गृह मंत्रालय ने समय से पहले उनकी रिटायरमेंट की सिफारिश की है, जानकारी के अनुसार पिछले तीन सालों में आईपीएस नाकारा साबित हो रहे है।

नकारा आईपीएस पर गिरेगी गाज,उन्हें समय से पहले हटाया जाएगा।
(प्रदीप महाजन) दिल्ली जैसे शहर में कई आईपीएस अधिकारी बरसो से जमे हुए अगर उनका ट्रांसफर दिल्ली से बाहर हो जाता हैं तो वो राजनीतिक सिफारिश लगा कर या कोई जुगाड़ करके  फिर दिल्ली में पोस्टिंग करा लेते हैं,और वह आईपीएस जो दिल्ली में एसीपी, डीसीपी,या किसी बड़े ओहोदे पर लगे होते है अपने घर से आफिस और ऑफिस से घर तक की ड्यूटी करते हैं फील्ड में तो जाते ही नही है उनके अधीनस्थ उनको समयानुसार मोटी फटीक पहुचा देते हैं जिसका लाभ थानों में बैठा नीचे से लेकर ऊपर तक का पुलिस वाला लेता है,और थानों में शिकायत कर्ता और पब्लिक का उत्पीड़न होता है ।
देश भर के आईपीएस अधिकारियों  के सर्विस रिकॉर्ड की गृह मंत्रालय ने समीक्षा करी जिसमे करीब 1200 में से 10 आईपीएस पर गाज गिर सकती है ,गृह मंत्रालय ने समय से पहले उनकी रिटायरमेंट की सिफारिश की है, जानकारी के अनुसार पिछले तीन सालों में आईपीएस नाकारा साबित हो रहे है।
आईपीएस के सर्विस रिकार्ड की समीक्षा साल 2016 से 2018 के बीच ऑल इंडिया सर्विसेज (मृत्यु और सेवानिवृत्ति लाभ) नियमों, 1958 के नियम 16 (3) के तहत की गई है। इस नियम के मुताबिक केंद्र सरकार संबंधित राज्य सरकार के परामर्श से एक IAS अफसर को जनहित में रिटायर होने को कह सकती है। इसके लिए वह उसे तीन महीने का पूर्व नोटिस या तीन महीने का वेतन और इस नोटिस के साथ भत्ते दे सकती है।इसके अलावा भी कई आईपीएस गृह मंत्रालय और सीबीआई के राडार पर है।READ FULL STORY ON WWW.INSMEDIA.ORG

Back