दिल्ली में 24 घण्टो में 990 कोरोना केस आये, 21 हजार के करीब आंकड़ा हुआ। देश भर मे 1,90,535 मरीज हुए।      देश की राजधानी दिल्ली में एक दिन में कोरोना मरीजो की बेतहाशा वृद्धि ,करीब 1300 मरीजो के साथ आंकड़ा 20 हजार के करीब हुआ। देश मे 182143 मरीज हुए।      दिल्ली पुलिस ने खोए दो दिनों में अपने दो जांबाज अधिकारी, कल ASI शेष मणि के बाद आज ASI विक्रम यादव की मौत।      केजरीवाल सरकार ने केंद्र सरकार से 5000 करोड़ रुपये मांगे कहा कर्मचारियों को सैलरी देने का संकट है।      दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच में तैनात असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर की कोरोना से मौत।      महंत सुरेश शर्मा सहित सभी सन्त महात्माओं ने धार्मिक स्थलों को खोलने के फैसले का स्वागत किया।      दिल्ली में नही रुकी रफ्तार आज 1163 केस सामने आए,भारत मे पौने दो लाख के करीब मरीज हुए।      निकाह के लिये पूर्व निगम पार्षदा इशरत जहां को मिली अंतरिम जमानत।      नही थमी दिल्ली में रफ्तार, एक दिन में 1106 कोरोना केस आये,भारत मे 1,65,799 कोरोना मरीज हुए। संक्रमित देशों की सूची में भारत नौवें स्थान पर ।            दिल्ली में कोरोना के 1024 नए केस आने से हड़कंप, देश भर में कोरोना के 1,58,333 मरीज हुए।      पालिका केंद्र और शहीद भगत सिंह प्लेस को कर्मचारियों के कोरोना वायरस संक्रमित होने के बाद सील किया गया।      दिल्ली पुलिस कर्मी सिंघम, दबंग ना बने तनावपूर्ण डयूटी ना करे,कोरोना किसी का सगा नही बचाव रखे।      उत्तरी दिल्ली की डीसीपी भी कोरोना पॉजिटिव हुई। करीब 500 पुलिसकर्मी,7 एसएचओ और 2 आईपीएस अब तक कोरोना की चपेट में।      अस्पताल की मुफ्त जमीन लेने वाले क्यो नही कोरोना पीड़ितों का मुफ्त या कम फीस लेकर ईलाज करते-सुप्रीम कोर्ट      सीबीआई ने चावल कम्पनी के तीन निदेशकों पर स्टेट बैंक की शिकायत पर 100 करोड़ के नुकसान का केस दर्ज किया।      दिल्ली में कोरोना मरीजो ने भरी बड़ी उछाल एक दिन में 800 के करीब केस आये,दिल्ली में संख्या 15 हजार से ऊपर पहुची, भारत मे कोरोना मरीजो ने डेढ़ लाख का आंकड़ा पार किया,अबतक 4337 की मौत हुई।      ये क्या हो रहा है सीपी साब.. AC कमरों से बाहर निकालो अधिकारी,कैसे कोरोना और लोगो से माँ बहन की गाली खाकर लाईन हाजिर हो रही है पुलिस..      दिल्ली में 24 घण्टो में 412 मरीज आये ,कुल 14465 मरीज हुए। देश भर में मरीजो का आंकड़ा 145380 पहुचा वही रिकवरी रेट 41.61प्रतिशत हुआ।      दिल्ली में 24 घण्टो में 635 कोरोना मरीजों के साथ आंकड़ा पहुचा 14 हजार से ऊपर,भारत मे कोरोना मरीजों ने पकड़ी रफ्तार एक दिन में 7 हजार के साथ 1,38,845 मरीज हुए।     

( 28/08/2015)  (Pradeep Mahajan) सिनेकारों की जीवनी को दर्शाते नाटकों का मंचन सिंतम्बर

 
रंगमच प्रेमियों को तिहरे नाटकों के माध्यम से 50 के दशक के महान कलाकारों के जीवन और उनके अधूरे प्यार, संगीत के लिए उनकी प्यास और असामयिक मौत से दर्शकों को रूबरू कराया जाएगा। इन ऐतिहासिक नाटकों का नई दिल्ली में फिक्की सभागार में 19 और 20 सितम्बर, 2015 को मंचन किया जाएगा।

सैफ हैदर हसन की थियेटर प्रस्तुतियां गर्दिश में तारे और एक मुलाकात गुरुदत्त - गीता दत्त और साहिर लुधियानवी - अमृता प्रीतम के जीवन और उनके प्यार पर आधारित हैं। इन दोनों संगीतमय रोमांटिक थिएटर प्रस्तुतियों में शेखर सुमन - दीप्ति नवल और आरिफ जकारिया - सोनाली कुलकर्णी मुख्य भूमिका में होंगे।
सैफ हैदर हसन कहते हैं, \"ये दोनों प्रस्तुतियां काल्पनिक हैं, भारत के सबसे मशहूर कलाकारों के जीवन, उनके अधूरे प्रेम और उनका इम्तिहान और सामाजिक मापदंडों के अनुसार खुद को एडजस्ट करने की उनकी पीड़ा पर आधारित है। इन प्रस्तुतियों में इस्तेमाल किये गये संगीत, कपड़े, सेट और यहां तक कि भाषा आपको उस युग में ले जाएंगे जब भारत साहित्य, फिल्मों या संगीत के क्षेत्र में सबसे अच्छा प्रदर्शन कर रहा था।
निर्माता व निर्देशक सैफ हैदर हसन कि प्रस्तुति \'गर्दिश में तारें दो रचनात्मक लोगों के जीवन और उनकी कृतियां पर आधारित रिश्ते पर आधारित एक नाटक है। सुम्माना अहमद द्वारा लिखित कहानी  फिल्मकार गुरुदत्त और उनकी गायिका पत्नी गीता दत्त के जीवन से प्रेरित है। जो काल्पनिक चरित्रों देवदत्त बोस (आरिफ जकारिया) और भावना (सोनाली कुलकर्णी) के माध्यम से, यह दर्षकों को उनकी उथल-पुथल भरी शादीषुदा जिंदगी से रूबरू कराती है। 
इस नाटक के फिक्की सभागार में 19 सितम्बर को शाम 5:30 बजे और 8.00 बजे दो शो होंगे।
\'एक मुलाकात\' महान उर्दू कवि, साहिर लुधियानवी और समान रूप से प्रसिद्ध पंजाबी लेखिका अमृता प्रीतम के रिश्ते की एक ईमानदार जांच- पड़ताल करती है। सैफ हैदर हसन द्वारा निर्मित और निर्देशित यह नाटक साहित्यिक संदर्भ और नज्में और साहिर लुधियानवी और अमृता प्रीतम के मूल कविता से ओत प्रोत है। शेखर सुमन और दीप्ति नवल ने इन दोनों महान साहित्यकारों के जीवन पर आधारित दो घंटे के नाटक में भूमिका निभायी है। यह नाटक जटिल मोड़ पर खत्म होता है। 
इसमें अमृता के घर में छत पर दिल्ली में एक ठंड सर्दियों की रात की पृष्ठभूमि है। कोई उन्हें मुंबई से काॅल कर रहा है। वह आश्चर्यचकित हैं कि कौन उन्हें काॅल कर सकता है क्योंकि वह वहां साहिर लुधियानवी को छोड़कर किसी को नहीं जानती हैं। और फिर साहिर अचानक प्रकट होते हैं। वह पहले की तुलना में बहुत अधिक बोल रहे हैं, अधिक घुल-मिल रहे हैं। इस प्रकार, दोनों कवियों और प्रेमियों के बीच एक आत्मीय बातचीत होती है। साहिर और अमृता के बीच प्रेम, जीवन और साहित्य के बारे में अनूठी बातचीत होती है। कॉल आते रहते हैं और बातचीत के जरिये नाटक आगे बढता है। यह नाटक एक अनूठे रिश्ते और एकतरफा प्यार को प्रदर्शित करती है। �एक मुलाकात� साहिर लुधियानवी और अमृता प्रीतम की काव्य प्रतिभा को एक संगीतमय श्रद्धांजलि है। इसके फिक्की सभागार में 20 सितम्बर को षाम 5:30 बजे और 8.00 बजे दो शो होंगे।
सैफ हैदर हसन के बारे में:
सैफ हैदर हसन इलाहाबाद में पैदा हुए और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से एमए किया। यहां के माहौल ने उन्हें थिएटर के प्रति प्रोत्साहित किया क्योंकि यहां छात्रों को रचनात्मक स्वतंत्रता दी जाती थी। उन्होंने एक प्रशिक्षु काॅपी राइटर के रूप में अपना कैरियर शुरू किया और नई दिल्ली में पिएर्रोत की ट्रुप में शामिल हो गए। मुंबई जाने से पहले, यहां उन्हें नाटककार, अभिनेता, मंच की साज सज्जा और सहायक के रूप में कई कार्य सौंपे गये। मुंबई में उनके द्वारा किया गया सबसे दिलचस्प कार्य एक नाटक में गुजलार की एक लघु कहानी आध्धा को लेना था और इसके लिए उन्हें उनकी मंजूरी भी मिल गयी। एक पूर्व पत्रकार ने इस पर नौ नाटक लिखे जिन्हें सार्वजनिक स्थानों पर मंचन किया गया और इन्हें आलोचकों से काफी सराहना मिली।
उनकी पुस्तक �वन यस्टर्डे�, जो कि संस्मरणों का एक संकलन थी, 2004 में रूपा एंड कंपनी द्वारा प्रकाशित की गयी। 2007 में, सैफ रस्किन बॉन्ड की अध्यक्षता में हुए सहपाठी युवा लेखक प्रतियोगिता 2006 की जूरी में षामिल थे। सैफ को अपने रेडियो नाटक जीवन गुलमोहर स्टाइल लिखने के लिए बीबीसी वल्र्ड सर्विस ट्रस्ट के द्वारा मंजूरी दी गयी। वे अपने पहले उपन्यास का इंतजार कर रहे हैं जो जल्द आने वाली है।

Back