कथित पत्रकारों की PIB ,DIP कार्ड की जांच हो,बिहार बालिका गृह के आरोपी की PIB पत्रकार मान्यता रद्द की गई I       ये क्या हो रहा है सी पी साब....sho घूस लेते पकड़ा I      12 वर्ष से कम उम्र की बच्ची से रेप के अपराध में मृत्यु दंड की सजा,लोकसभा में बिल पास I       सेफमा कानून के तहत भगोड़े दाऊद की नौ संपत्तियों की नीलामी की जायेगी            16 नेपाली लड़कियों को दिल्ली महिला आयोग ने बचाया I      जिला पुलिस उपायुक्त बिल्डिंग से गिरा प्लास्टर, रेनोवेशन के नाम पर भ्र्ष्टाचार I       पत्रकार बन कर कारोबारी से हर माह करते थे लाखों की वसूली       प्रेमिका को सोने की चेन देने के लिए शुरू की स्नैचिंग       IAS अधिकारी फाइले रोकते है , काम नहीं करते, सीएम केजरीवाल      सशस्त्र बलों के लिए गोला बारूद की कोई कमी नहीं है-सुभाष भामरे      आधार लिंक 31 दिसंबर तक बैंक खाते से नहीं कराया तो हो सकता है खाता बंद       चोर ने पकड़े जाने के डर से पांचवी मंजिल से कूद कर अपनी गवाई जान      आरुषि हत्याकाण्ड में तलवार दंपती बरी      लक्ष्मी नगर V 3 S माल के सामने अवैध रिक्शो टेम्पुओं,ग्रामीण सेवा ई रिक्शा से ट्रैफिक जाम       शिकार के मामलों में सलमान ख़ान बरी      ओलंपिक में देश के लिए पदक लाएँ-सुशील       आम आदमी पार्टी पर सनसनीखेज खुलासा ऑपरेशन AAP आप मंत्री सहित तीन विधायको ने की चुनाव आयोग से धोखाधड़ी      रामदेव बाबा की 450 कम्पनिया TV चैनल पर राज कर रही हैं      कड़कड़डूमा कोर्ट का काण्ड पुलिस की लापरवाही है क्या      

( 24/12/2015)  (Pradeep Mahajan) कड़कड़डूमा कोर्ट का काण्ड पुलिस की लापरवाही है क्या

 
कड़कड़डूमा कोर्ट का काण्ड पुलिस की लापरवाही है क्या (राजेश टुटेजा )पुलिस की लापरवाही कहे या हत्यारों की निशानदेही कहे कही ना कहि चूक तो हुई है गौरतलब है कि दिल्ली में पहली बार कोर्ट रूम में ये काण्ड हुआ है जानकारी के अनुसार, कोर्ट के रूम नंबर 73 के बाहर कई राउंड फायरिंग हुई। फायरिंग की ये घटना गैंगवार का नतीजा है। कड़कड़डूमा अदालत परिसर के एक अदालत कक्ष में बुधवार को हमलावरों की गोलीबारी में दिल्ली पुलिस के एक कांस्टेबल की मृत्यु हो गई जबकि दो अन्य घायल हो गए। इस घटना के चलते चार युवकों को गिरफ्तार कर लिया गया है। गोलीबारी की इस घटना के बाद कोर्ट परिसर में अफरतफरी मच गई। इस गोलीबारी में मजिस्‍ट्रेट बाल-बाल बच गए।पुलिस ने बताया कि मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट सुनील गुप्ता भी इस घटना में बाल-बाल बच गए। गोली उनकी कुर्सी के पास से निकल गई और पीछे वाली दीवार पर जा लगी। मृतक कांस्टेबल की पहचान राम कुमार के तौर पर की गई है। वह दिल्ली पुलिस की तीसरी बटालियन में तैनात था। वह विचाराधीन कैदियों को जेल से अदालत कक्ष लाता ले जाता था। उसे चार गोलियां लगी हैं। दिल्ली सरकार ने उसके परिजनों को एक करोड़ रूपये का मुआवजा देने की घोषणा की है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि घायलों में विचाराधीन कैदी इरफान उर्फ छैनी पहलवान है जो कि एक हिस्ट्री शीटर है। दूसरा घायल कड़कड़डूमा अदालत परिसर के अदालत क्रमांक 73 में तैनात कांस्टेबल है। यहीं पर यह घटना सवेरे 11 बजे के दौरान हुई। अधिकारी ने बताया कि दोनों घायलों को दो-दो गोलियां लगी। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है जबकि कुमार को मृत घोषित करार दिया गया। जानकारी के अनुसार, मृतक कांस्टेबल का नाम रामकुमार बताया जा रहा है। रामकुमार को 5 राउंड गोली लगी, जिससे उसकी मौत हो गई। फायरिंग करने वालों में 4 हमलावर थे। बताया जा रहा है कि पेशी पर लाए गए कैदी पर फायरिंग की गई। कैदी इरफान को निशाना बनाया गया, लेकिन गोली उसे भी लगी। गोली चलाने वाले तीन आरोपियों को पुलिस ने पकड़ लिया है, वहीं एक आरोपी फरार हो गया। पुलिस ने आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। गौरतलब है कि दिल्ली में पहली बार कोर्ट रूम में ये काण्ड हुआ है

कड़कड़डूमा कोर्ट का काण्ड पुलिस की लापरवाही है क्या
(राजेश टुटेजा )पुलिस की लापरवाही कहे या हत्यारों की निशानदेही कहे कही ना कहि चूक तो हुई है गौरतलब है कि दिल्ली में पहली बार कोर्ट रूम में ये काण्ड हुआ है
जानकारी के अनुसार, कोर्ट के रूम नंबर 73 के बाहर कई राउंड फायरिंग हुई। फायरिंग की ये घटना गैंगवार का नतीजा है। कड़कड़डूमा अदालत परिसर के एक अदालत कक्ष में बुधवार को हमलावरों की गोलीबारी में दिल्ली पुलिस के एक कांस्टेबल की मृत्यु हो गई जबकि दो अन्य घायल हो गए। इस घटना के चलते चार युवकों को गिरफ्तार कर लिया गया है। गोलीबारी की इस घटना के बाद कोर्ट परिसर में अफरतफरी मच गई। इस गोलीबारी में मजिस्‍ट्रेट बाल-बाल बच गए।पुलिस ने बताया कि मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट सुनील गुप्ता भी इस घटना में बाल-बाल बच गए। गोली उनकी कुर्सी के पास से निकल गई और पीछे वाली दीवार पर जा लगी। मृतक कांस्टेबल की पहचान राम कुमार के तौर पर की गई है। वह दिल्ली पुलिस की तीसरी बटालियन में तैनात था। वह विचाराधीन कैदियों को जेल से अदालत कक्ष लाता ले जाता था। उसे चार गोलियां लगी हैं।

दिल्ली सरकार ने उसके परिजनों को एक करोड़ रूपये का मुआवजा देने की घोषणा की है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि घायलों में विचाराधीन कैदी इरफान उर्फ छैनी पहलवान है जो कि एक हिस्ट्री शीटर है। दूसरा घायल कड़कड़डूमा अदालत परिसर के अदालत क्रमांक 73 में तैनात कांस्टेबल है। यहीं पर यह घटना सवेरे 11 बजे के दौरान हुई। अधिकारी ने बताया कि दोनों घायलों को दो-दो गोलियां लगी। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है जबकि कुमार को मृत घोषित करार दिया गया।

जानकारी के अनुसार, मृतक कांस्टेबल का नाम रामकुमार बताया जा रहा है। रामकुमार को 5 राउंड गोली लगी, जिससे उसकी मौत हो गई। फायरिंग करने वालों में 4 हमलावर थे। बताया जा रहा है कि पेशी पर लाए गए कैदी पर फायरिंग की गई। कैदी इरफान को निशाना बनाया गया, लेकिन गोली उसे भी लगी। गोली चलाने वाले तीन आरोपियों को पुलिस ने पकड़ लिया है, वहीं एक आरोपी फरार हो गया।

पुलिस ने आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। गौरतलब है कि दिल्ली में पहली बार कोर्ट रूम में ये काण्ड हुआ है

Back